बातचीत के दौरान नई दिल्ली-वॉशिंगटन के बीच 2+2 वार्ता की शुरुआत और जापान के साथ त्रिस्तरीय वार्ता पर भी खुशी जाहिर की गई.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछली शाम टेलीफोन पर एक दूसरे से बात की और नए साल की बधाई दी.

दोनों नेताओं ने 2018 में भारत-अमेरिकी संबंधों की प्रगति पर संतोष जाहिर की. बातचीत के दौरान नई दिल्ली-वॉशिंगटन के बीच 2+2 वार्ता की शुरुआत और जापान के साथ त्रिस्तरीय वार्ता पर भी खुशी जाहिर की गई. दोनों नेताओं ने भारत-अमेरिका के बीच रक्षा, आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई, ऊर्जा और क्षेत्रीय व वैश्विक मुद्दों पर बनी सहमति पर एक-दूसरे का ध्यान खींचा. 2018 की तरह 2019 में भी दोनों देशों के बीच संबंधों में मजबूती लाने के लिए पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रतिबद्धता जताई.

हालांकि अभी हाल में राष्ट्रपति ट्रंप ने पीएम मोदी पर अफगानिस्तान मुद्दे पर तंज कसा था. पीएम मोदी ने अफगानिस्तान में भारत के कार्यों का जिक्र किया था. इस पर ट्रंप का कहना था कि अफगानिस्तान किसी एक देश की जिम्मेदारी नहीं, इसमें कई देशों को साथ मिलकर चलना पड़ेगा. ट्रंप ने अमेरिकी खर्चे को लेकर भी इशारे में भारत पर निशाना साधा था.

पिछले साल सितंबर में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र में एक उच्च स्तरीय कार्यक्रम के दौरान एक दूसरे का हाल-चाल पूछा था. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ड्रग्स की तस्करी रोकने के इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की. कार्यक्रम समाप्त होने के बाद ट्रंप के मंच से उतरने पर संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को गले लगाया और राष्ट्रपति ट्रंप से उन्हें मिलाया.

सुषमा ने जब अमेरिकी राष्ट्रपति से कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शुभकामनाएं लेकर आई हैं तब ट्रंप ने कहा, ‘मैं भारत से प्यार करता हूं, मेरे मित्र पीएम मोदी को मेरा अभिवादन भेजिएगा.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here