आज के इस कलयुग में 1-2% लोग ही ऐसे होंगे जो धन की इच्छा नहीं रखते हैं जो बाबा ज्ञान देते हैं की जीवम में धन के नहीं धर्म के पीछे भागना चाहिए वह भी चंदा लेके धन लुटते हैं हर मनुष्य धन के पीछे भाग रहा है किसी को इतना मिला है की वह गिन नहीं
पा रहा है और किसी को इतना मिला की वह दो वक्त का खाना भी नहीं खरीद सकता उससे ये सब भाग्य और कर्मों पर निर्भर करता है आज हम उन लोगों के लिए कुछ ऐसे उपाय लेके आये हैं जिन्हे कर्म करने के बाद भी धन की प्राप्ति नहीं होती है

धन प्राप्ति के उपाय
अगर आपको लगता है कि आप रुपये-पैसों की किल्लत झेल रहे हैं या मां लक्ष्मी आपसे रूठी हुई हैं तो धन प्राप्ति के ये उपाय आजमाकर देखिए.

1. मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए अपने घर एवं व्यावसायिक स्थल पर साफ-सफाई रखते हुए हमेशा पवित्रता कायम रखें. ध्यान रहे कि किसी भी अशुद्ध या गंदे स्थान से माता लक्ष्मी रूठकर चली जाती हैं. रात्रि को किचन में भूलकर भी गंदे बर्तन न छोड़ें.
2. कभी भी जूठे हाथ से रुपए-पैसे को स्पर्श न करें. रुपए गिनते समय नोट पर कभी भी थूक न लगाएं. इससे मां लक्ष्मी का अपमान होता है और वह रूठकर चली जाती हैं.
3.शुक्रवार के दिन घर के मुख्य द्वार पर बाहर की तरफ जमीन पर रोली या लाल रंग से माता लक्ष्मी के पैरों के चिन्ह बनाएं.
4. माता लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने के लिए शुक्रवार के दिन प्रात:काल स्नान-ध्यान करने के बाद सफेद या क्रीम कलर के कपड़े पहनें. माता लक्ष्मी की मूर्ति या फोटो को ईशान कोण या फिर पूर्व दिशा में रखकर ही पूजा करें.
5. मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए श्रीयंत्र पर कमल का फूल चढ़ाएं और श्री सूक्त का पाठ करें. माता लक्ष्मी के मंत्रों का जाप स्फटिक या कमलगट्टे की माला से करें. माता लक्ष्मी के साथ भगवान श्री नारायण की भी पूजा करें. लक्ष्मी और नारायण, दोनों की पूजा करने से सभी देवी-देवताओं का आशीर्वाद बना रहेगा और धन संबंधी बाधाएं दूर होंगी.
6. आर्थिक संकट से मुक्ति के लिए महालक्ष्मी यंत्र की स्थापना करें और उसकी प्रतिदिन पूजा करें. महालक्ष्मी यंत्र को कैश बॉक्स या फिर तिजोरी में रखने से धन लाभ होता है.
7. माता लक्ष्मी की प्रिय चीजें जैसे शंख, कौड़ी, श्रीफल यानी नारियल आदि पूजा में विशेष रूप से अर्पित करें. साथ ही प्रसाद में मिश्री और खीर का भोग लगाएं.
8. यदि चाहते हैं कि माता लक्ष्मी की कृपा हमेशा बनी रहे तो भूलकर भी रात्रि में चावल, दही आदि का सेवन न करें.
9. शुक्रवार के दिन अपने सामर्थ्य के अनुसार चीनी, दूध, चावल, चांदी, इत्र जैसी सफेद वस्तुओं का दान करें.
10. झाड़ू को कभी भी पैर से ठोकर न मारें और उसे हमेशा छिपाकर रखें. कभी भी खड़ी झाड़ू न रखें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here