आज श्रावण कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि और सोमवार का दिन है। आज पूर्व भाद्रपद नक्षत्र है जो सुबह 10 बजकर 24 मिनट तक रहेगा। इसके बाद उत्तरभाद्रपद नक्षत्र शुरू हो जाएगा। श्रावण मास में आने वाला हर सोमवार बेहद विशेष होता है और आज पहला सोमवार है। इस दिन शिव के निमित्त कुछ खास उपाय करने से विशेष फलों की प्राप्ति होती है। लेकिन सावन के सोमवार का व्रत खासतौर से कुंवारी कन्याओं के लिए काफी फलदायी माना जाता है। इस व्रत को करने से उन्हे एक श्रेष्ठ जीवनसाथी मिलता है।

श्रावण मास के पहले सोमवार पर पूरे विधि विधान से शिव शंकर की पूजा करनी चाहिए। सुबह स्नान आदि के बाद शिवालय जाकर शिवलिंग का अभिषेक कीजिए, शिवलिंग के साथ-साथ पूरे शिव परिवार यानि माता पार्वती, भगवान गणेश, कार्तिकेय और नंदी की पूजा भी ज़रूर करनी चाहिए। इसके बाद आसन बिछाएं, उस पर बैठें और शिव का ध्यान करें। लेकिन ध्यान रखें कि सुबह भगवान शिव की पूजा पूर्व की तरफ मुंह करके तो शाम के समय पूजा पश्चिम की तरफ मुंह करके करनी चाहिए।

श्रावण मास के पहले सोमवार को भगवान शिव का अभिषेक किस-चीज़ से करने से उसका क्या लाभ मिलता है। जानें इस बारें में आचार्य इंदु प्रकाश से।

  • शिवलिंग का दूध से अभिषेक करने से दीर्घायु प्राप्त होती है।
  • अगर शिवलिंग का शहद से अभिषेक किया जाए तो सभी दुखों और कष्टों का निवारण होता है।
  • शिवलिंग का अगर घी से अभिषेक किया जाए तो हर प्रकार की शारीरिक तकलीफों से निज़ात मिल जाती है।
  • अगर शिवलिंग का दही से अभिषेक किया जाए तो इंसान को संतान सुख प्राप्त होता है।
  • चंदन से अभिषेक करें तो भाग्य में वृद्धि होती है और अरोग्यता प्राप्त होती है।
  • गन्ने या खजूर के रस से शिवलिंग का अभिषेक करें, तो शत्रुता से मुक्ति मिलती है।
  • सामान्य जल में गंगाजल मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करने से शांति व संतोष की प्राप्ति होती है।
  • वही पंचामृत अभिषेक करने से यानि दूध, दही, मिश्री, घी और शहद का एक साथ अभिषेक करने से धन संपदा की प्राप्ति होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here