आज़म खान के इस विवादित बयान बन सकता है बड़ा मामला ……..उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से सांसद और समाजवादी पार्टी (सपा) नेता आजम खान ने मॉब लिंचिंग की कड़ी आलोचना की. उन्होंने कहा है कि 1947 में देश को स्वतंत्रता मिली, किन्तु देश के मुसलमान 1947 के बाद भी सजा काट रहे हैं. उन्होंने कहा मुसलमान कमजोर है, इसलिए उन्होंने स्वतंत्रता के बाद से ही काफी जिल्लत की जिंदगी गुजारी है.

आजम खान ने कहा है कि, ‘मुसलमान 1947 के बाद से ही सजा काट रहे हैं. यदि मुसलमान पाकिस्तान चले जाते तो उन्हें यह सजा नहीं भुगतनी होती. मुसलमान भारत में हैं तो सजा भुगतेंगे. आज़म खान ने कहा कि हमारे पूर्वज क्यों नहीं गए पाकिस्तान? ये मौलाना आजाद, पंडित जवाहर लाल नेहरू और सरदार पटेल से सवाल करिए, क्योंकि इन लोगों ने मुसलमानों से कई सारे वादे किए थे.’ 1947 के बाद से कुछ हो नहीं सकता. ये दिन तो हमें देखने ही हैं. आज़म खान ने कहा कि स्वतंत्रता के बाद देश बंट गया और देश के बंटते ही लोगों के दिल भी बंट गए. आजम खान ने कहा है कि ये दिन तो देखने ही पड़ेंगे.

भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए आज़म खान ने कहा कि इस सरकार ने मुस्लिम कार्ड खेला, किन्तु ये मुसलमानों को आगे नहीं बढ़ने देना चाहती है. आज़म खान ने कहा कि रामपुर में 70 फीसद लोग मुस्लिम हैं और बाकी हिंदू. योगी सरकार ने मुस्लिम समुदाय के लोगों का पानी का कनेक्शन काट दिए. आज़म खान ने सवालिया लहजे में कहा कि क्या हिंदु धर्म में मुसलमानों को पानी देना पाप है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here