फटे, सूखे या पीड़ादायक होंठ ठंड के मौसम में सामान्य हैं। लेकिन होठों का फटना आमतौर पर घरेलू उपचार के उपयोग से ठीक किये जा सकते हैं। सर्दियों के दिनों होंठ बड़ी जल्‍दी-जल्‍दी फटने लगते हैं, जो कि काफी खराब सा अनुभव होता है। होठ जब भी थोड़े सूखे महसूस होते है तो उन्हें चाट कर गीला करने की इच्छा होने लगती है। होठों पर जीभ फिराने के कुछ मिनट बाद ही वापस होठ सूखे महसूस होने लगते है। फिर उन्हें नम करने की इच्छा होती है। फिर से ऐसा करना पड़ता है और यह लगातार चलता रहता है। इससे होठ ज्यादा सूखने लगते है।

होठो पर एक सूखी परत सी बन जाती है। इस परत को कुछ लोग दांत से काट कर निकलने की कोशिश करने लगते है। कुछ लोगों की आदत होती है वे बार बार होठो को दांतों से हल्का हल्का चबाते रहते है। ये सभी हरकतें होठो के लिए नुकसान देह होती है। परंतु इससे समस्या कम नहीं होती बल्कि बल्कि खाने पीने में और बातचीत करने में भी परेशानी होने लगती है।

होंठो की बनाबट कैसी होती है –
जहाँ सामान्य त्वचा 16 परतों से बनी होती है वहीं होंठ की त्वचा में सिर्फ 4 -5 परत ही होती है। होठों की परत के पतली होने के कारण ही होठो का रंग गुलाबी दिखाई देता है जो असल में नीचे की परत में मौजूद रक्त से भरी केशिकाओं के कारण दिखाई देता है। लार में मौजूद बेक्टिरिया जो वैसे तो नुकसानदेह नहीं होते लेकिन ये होठों को नाजुक और पतली परत को नुकसान पहुंचा सकते है। अतः यदि होंठ चबाने, चाटने या काटने की बुरी आदत हो तो इसे तुरंत छोड़ देना चाहिए।

होंठ के किनारों का फटना –
होठो का किनारे ( जहाँ दोनों होंठ जुड़ते है ) की तरफ से होठों का फटना या होठों के किनारे पर सूजन या जलन आदि होना फंगल इन्फेक्शन या बेक्टिरिया आदि के कारण हो सकता है। ये बेक्टिरिया या फंगस लार में मौजूद होते है।

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली यदि मजबूत होती है तो इनसे कुछ नुकसान नहीं होता। लेकिन प्रतिरक्षा तंत्र के कमजोर होने तथा मुंह पर चोट या खरोंच आने से या ज्यादा लार या थूक किनारे पर इकठ्ठा होने से ये बेक्टिरिया तेजी से बढ़ने लगते है । इस वजह से वहाँ संक्रमण दिखाई देता है। प्रतिरक्षा तंत्र के कमजोर होने का कारण बीमारी या तनाव की स्थिति हो सकती है।

फटे हुए होंठो को ठीक करने के घरेलू उपाय –
फटे हुए होंठ दिखने में काफी भद्दे लगते हैं लेकिन सर्दियों में ऐसा सभी के साथ होता है इसलिये इसमें इतना कोई परेशान होने की जरुरत नहीं है। क्‍योंकि आज हम आपको फटे होंठो से निपटने के लिये कुछ घरेलू स्‍क्रब बनाना सिखाएंगे आप क्यों न अपनी रसोई में इस्तेमाल होने वाली चीजों को अपनाएं। इन आसान उपायों से आपके होठों की संवेदनशील त्वचा का पोषण होता है और कुछ ही दिनों में होठ बड़ी आसानी से नमी पा सकते हैं।

1. होंठ फटने का इलाज बादाम तेल और शहद –
बादाम तेल में विटामिन इ और विटामिन सी होता है। इससे आपको बहुत पोषण मिलता है। सर्दियों में जब आपके होंठ फट जाते हैं तो आप होंठो पर कुछ बूंद बादाम के तेल की लगा सकती हैं। बादाम के तेल के साथ थोड़ा सा शहद मिक्‍स कर सकती हैं। बादाम और शहद को मिक्‍स कर के लिपबाम बना कर फ्रिज में स्‍टोर भी कर सकती हैं।

2. शहद और ग्लिसरीन कम करें होठों का फटना –
हनी में एंटीसेप्टिक और जीवाणुरोधी गुण होते हैं जिसमें विटामिन सी की एक उच्च मात्रा भी होती है, जो त्‍वचा को हाइड्रेट करती है। शहद और चीनी का स्‍क्रब, शहद और नींबू का रस, शहद और ग्लिसरीन, गुलाब के पानी के साथ शहद आदि आपके फटे होंठो को काफी सुंदर बना सकते हैं। एक चम्मच शहद में ग्लिसरीन की कुछ बूंदें मिलाएं। इसे होठों पर लगा कर 15 मिनट छोड़ दें। सामान्य पानी से धो लें। फटे होठों पर दिन में 2-3 बार शहद लगाएं। थोड़ा-सा शहद रात को सोने से पहले अपने होठों पर लगाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here