हमारा पाचन तंत्र हमारे खाने को पचाने के लिए पेट में एसिड बनाता है। जिससे हमारा पाचन तन्त्र नियंत्रित रहता है। परन्तु अगर एसिड की मात्रा हमारे शरीर में बढ़ जाये तो यह एसिडिटी का कारण बन जाती है।

आजकल हर किसी को एसिडिटी की बीमारी होती है। हमारा पाचन तंत्र हमारे खाने को पचाने के लिए पेट में एसिड बनाता है। जिससे हमारा पाचन तन्त्र नियंत्रित रहता है। परन्तु अगर एसिड की मात्रा हमारे शरीर में बढ़ जाये तो यह एसिडिटी का कारण बन जाती है। एसिडिटी होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे समय पर खाना न खाना, देर रात तक जागना, मसालेदार खाने का सेवन करना आदि। इस समस्या से राहत पाने के लिए लोग कई दवाइयों का सहारा लेते हैं।। कई बार ज्यादा खाने से या ज्यादा देर तक भूखे रहने से भी एसिडिटी की समस्या हो जाती है। परन्तु इन घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप अपनी एसिडिटी की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

इलायची: इलायची खाने से एसिडिटी और कब्ज की समस्या दूर होती है। 2 इलायची लें इसको 1 गिलास पाने में डालकर उबाल लें। जब पानी ठंडा हो जाए तो इससे पी लें। इसको पीने से तुंरत एसिडिटी से राहत मिलेगी।

मुलेठी: एसिडिटी होने पर मुलेठी का चूर्ण या काढ़ा बनाकर उसका सेवन करना चाहिए। इससे एसिडिटी में फायदा होता है।

अदरक: एसिडिटी से छुटकारा पाने में अदरक काफी असरदार तरीका है। अदरक को छोटे टुकड़ों में काटकर पानी में डाल कर उबाल लें। इस तरह अदरक का रस पानी में घुल जाएगा। इस पानी से चाय भी बनाई जा सकती है।

गुलकंद : गुलकंद का सेवन भी एसिडिटी में लाभदायक है। इनमें से किसी एक को दूध में उबाल कर पीने से एसिडिटी दूर होती है।

निम्बू: mगुनगुने पानी में निम्बू निचोड़ कर पीने से एसिडिटी से राहत मिलती है।

मूली : मूली के ऊपर काला नमक और काली मिर्च पाउडर डालकर खाएं।

सौंफ : एक चम्मच सौंफ को कच्चा चबाने से भी एसिडिटी से राहत मिलेगी।

दूध: ठंडा दूध पीना, एसिडिटी के लिए पुराना रामबाण उपाय है। पेट या सीने में जलन होने पर दूध और पानी को बराबर मात्रा में मिलाकर पिएं या फिर ठंडे दूध का सेवन करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here