आजकल ज्यादातर लोग कैंसर जैसी घातक बीमारी का शिकार हो रहे हैं। इसकी वजह गलत लाइफस्टायल और अन्य शारीरिक कमियां हैं। ऐसे में इस रोग से बचने के लिए मीठी तुलसी का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। इसे स्टीविया के नाम से भी जाना जाता है। ये ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और स्किन संबंधित बीमारियों आदि में भी लाभकारी साबित होता है।

1.स्टीविया में मौजूद क्वेरसेटिन, केम्पफेरोल और अन्य ग्लाइकोसाइड यौगिक शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्‍स (Free radicals) को खत्म करने में मदद करते हैं। इससे कैंसर कोशिकाएं विकसित नहीं हो पाती हैं।

2.मीठी तुलसी में एंटी-बैक्‍टीरियल गुण होते हैं। इसके इस्तेमाल से एक्जिमा और डर्मेटाइटिस (Eczema and dermatitis) आदि स्किन संबंधित दिक्कतों में राहत मिलती है।

3.मीठी तुलसी के पाउडर का सेवन करने से यृकत कोशिकाओं (Lutein cells) को होने वाले नुकसान से बचाया जा सकता है। इससे लिवर स्वस्थ रहता है।

4.पेट की खराबी, बदहजमी, अपच आदि समस्‍याओं से छुटकारा पाने के लिए स्‍टीविया के अर्क (Extract) का सेवन करें। ये शरीर में मौजूद गंदगी को बाहर निकालने का काम करता है।

5.स्‍टीविया में पोटेशियम होता है। ये रक्‍त वाहिकाओं की ब्लॉकेज को दूर करने में मदद करता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है।

6.अगर किसी को यूरीन संबंधित दिक्कत है तो मीठी तुलसी का सेवन करें। ये शरीर में सोडियम की अतिरिक्त मात्रा को कम करने में मदद करता है। इससे गुर्दे ठीक से काम करते हैं।

7.स्टीविया में ग्‍लाइकोसाइड नामक तत्व होता है। ये ब्लड प्रेशर की दिक्कत को दूर करने में मदद करता है। ये दिल की धड़कनों की गति को सामान्य बनाए रखता है।

8.मीठी तुलसी के सेवन से हड्डियां मजबूत होती है। ये शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करने में मदद करता है।

9.स्टीविया में कैलोरी बहुत ही कम होती है साथ ही यह शरीर में शुगर लेवल को कम करने में मदद करता है। इससे मोटापा कम करने में मदद मिलती है।

10.दांतों में कैविटी (Cavity) और सड़न जैसी समस्‍याओं को खत्म करने के लिए मीठी तुलसी के पाउडर से मंजन करें। ऐसा करने से बैक्टीरिया खत्म होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here