अभिनेता एजाज खान को शनिवार को सोशल मीडिया पर कथित सांप्रदायिक घृणा फैलाने वाले वीडियो अपलोड करने के मामले में मुंबई की एक अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. एजाज खान को मुंबई पुलिस के साइबर सेल ने 17 जुलाई को गिरफ्तार किया था और उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 153ए (धार्मिक आधार पर विभिन्न समूहों के बीच वैमनस्य को बढ़ावा देने) के तहत मामला दर्ज किया था.

अभिनेता ने नौ जुलाई को एक सोशल नेटवर्किंग साइट पर दो वीडियो अपलोड किए थे. पहला वीडियो झारखंड में हुई कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डालने की घटना से संबंधित था. इसमें खान ने एक खास समुदाय के लोगों से कथित तौर पर एकजुट होने और बदला लेने को कहा था.

दूसरे वीडियो में खान एक कथित भड़काऊ वीडियो को लेकर पांच युवकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किए जाने पर पुलिस तंत्र का मजाक उड़ाते दिखे थे. पुलिस ने खान को शुक्रवार को मजिस्ट्रेट अदालत में पेश किया था जहां से उन्हें शनिवार तक की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था.

शनिवार को खान को पुन: मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया जिन्होंने अभिनेता को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. अभिनेता के वकील ने कहा कि वह अब मजिस्ट्रेट के समक्ष जमानत याचिका दायर करेंगे.

आपको बता दें कि एजाज खान ने तबरेज अंसारी मौत मामले को लेकर हिंसा फैलाने और भड़काऊ वीडियो बनाने के आरोपों का सामना कर रहे टिकटॉक के 07 ग्रुप का समर्थन करने का भी आरोप है. पांच लड़कों के इस ग्रुप पर मुम्बई पुलिस ने आपराधिक मामला दर्ज किया था .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here