मिश्री के बारे के औषधीय फायदों के बारे में, मिश्री को अंग्रेजी में रॉक शुगर भी कहते हैं, इसका प्रयोग खाने वाली चीजों को मीठा करने और अन्य औषधीय रूपों में किया जाता है।

मिश्री गन्ने के रस और ताड़ के पेड़ के रस से तैयार की जाती है, ये कई पोषक तत्वों से भरपूर होती है, मिश्री विटामिन, खनिजों और एमिनो एसिड से भरपूर होती है, विटामिन बी 12 भी इसमें काफी अच्छी मात्रा में होता है, तो चलिए जान लेते हैं इसके फायदे।

मुंह की बदबू के लिए

भोजन के बाद मिश्री और सौंफ का एक चम्मच मिश्रण खाने से मुंह की बदबू दूर होती है।

खांसी में

गले में खराश या खांसी होने पर मिश्री कि डली को मुंह में डालकर चूसने से राहत मिलती है।

खून की कमी में

यह खून की कमी यानि कि एनीमिया में लाभप्रद होती है, भोजन के बाद मिश्री का सेवन करने से रक्त परिसंचरण बेहतर होता है और खून की कमी दूर होती है।

आँखों की रोशनी में

आँखों की रोशनी कमजोर होने पर मिश्री खाने से लाभ होता है, मिश्री में ऐसे तत्व होते हैं जो आँखों की कई समस्याओं को दूर करते हैं।

खराब पाचन में

सौंफ और मिश्री को मिलाकर भोजन के बाद सेवन करने से अपच की समस्या दूर होती है और ख़राब पाचन तंत्र ठीक हो जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here