लौकी महज एक सब्जी नहीं बल्कि कई बीमारियों को दूर भगाने वाली औषधी है। इसके बाद भी लोग लौकी खाना कम पसंद करते है क्योंकि उनका मानना है कि ये स्वादिष्ट नहीं होती है। लेकिन आप इसके फायदे जानकार हैरान रह जाएंगे। आज हम आपको लौकी के जूस के फायदे और लौकी के जूस के नुकसान के बारें में बताएगें। लौकी का जूस बुखार, खाँसी, पेट के रोगों ,हृदय के विकार, गर्भाशय आदि से सम्बंधित रोगों के लिए लाभदायक साबित होता है।

लौकी के पौष्टिक गुण प्रति 100 ग्राम
लौकी में पानी 96.1%;
कार्बोहाइड्रेट 2.5%;
प्रोटीन 0.2%;
वसा 0.1%,
रेशा 0.6%;

सोडियम 1.8; मैग्नीशियम 5.0, पोटेशियम 87.0; कैल्शियम 20.2; ताँबा 0.3, लोहा 0.7; फॉस्फोरस 10, गंधक 10, विटामिन बी 1 0.03; विटामिन बी-5 0.2, विटामिन सी 6.0- प्रति 100 ग्राम में, मि.ग्रा. की मात्रा में पाये जाते हैं।

lauki लौकी के जूस का सेवन हमेशा ताजा करना चाहिए। लौकी का जूस बनाते समय थोड़ा सा चख लेना चाहिए क्योंकि जूस कड़वा लगे तो उसे नहीं पिए और फिर से बना ले। लौकी का जूस खाना खाने से पहले या फिर खाना खाने के एक घंटा बाद पिए। इस दिन में तीन बार ले सकते है। यहां एक बात जानना बहुत जरूरी है कि जिन लोगों को जुकाम या नजले की समस्या हो वे लौकी का रस सर्दियों में ना पियें, पीना ही चाहें तो सोंठ और कालीमिर्च डालकर पियें।

लौकी के जूस के फायदे –
लौकी के जूस के फायदे पानी की कमी को करता है दूर –
Lauki लौकी में पानी की मात्रा सबसे ज्यादा होती है। जिसके कारण ये डिडाईड्रेशन को दूर करने में मददगार साबित होता है। कई बार मौसम में बदलाव के कारण उल्टी , दस्त, बुखार के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है। ऐसे में आप नारियल पानी और लौकी का जूस मिलाकर पीते रहने पर पानी की कमी दूर हो जाती है।

लौकी के रस के फायदे ह्रदय को स्वस्थ्य रखने में –
कोलेस्ट्राल का स्तर ह्रदय को प्रभावित करता है इसलिए जब आप लौकी के रस का सेवन करते है तो इससे कोलेस्ट्रोल को कम किया जाता है क्योकि इसमें जीरो कोलेस्ट्रोल होता है साथ ही साथ एंटी ओक्सिडेंट की मात्रा भी काफी अधिक होती है इसलिए दिल की बीमारी से बचने के लिए लौकी के जूस का सेवन करना लाभदायक माना जाता है आप प्रतिदिन 200 मिलीग्राम तक ताजे बने लौकी के रस का सेवन कर सकते है और अपने ह्रदय को स्वस्थ्य रख सकते है।

लौकी के जूस के फायदे वजन घटाने में –
Lauki लौकी के सेवन से वजन कम होती है इसका कोई प्रमाण तो नहीं है लेकिन जानकारों का मानना है कि इसके जूस का नियमित सेवन करने से शरीर में मौजूद फैट को कम किया जा सकताहै। लौकी का जूस निकालर सुबह खाली पेट पिए। इस रस में आयरन पोटाशियम ,और अन्य खनिज तत्व शरीर को फायदा पंहुचाते है तथा यह मोटापे को भी कम करता है।

लौकी के जूस के फायदे दस्त में –
Lauki लौकी का रायता दस्त होने पर काफी फायदेमंद होता है। लौकी को कद्दूकस से कसकर थोड़ा पानी डालकर उबाल लें। फिर दही को अच्छी तरह फेटकर उसमें उबली हुई लौकी को हल्का सा निचोड़ कर मिला दें। इसके बाद इसमें सेंधा नमक, भूना जीरा, कालीमिर्च का चूर्ण मिलाकर सेवन करे।

लौकी के जूस के नुकसान –
जैसा की आपने जाना लौकी के जूस के फायदे अनेक है परन्तु इसे सही मात्रा में लेने की जरुरत होती है अति हर जगह नुकसान दायक होती है इसलिए जरुरत से जादा लौकी का जूस पीने या लौकी खाने से आपको नुकसान का सामना भी करना पड़ सकता है आइये जानते है लौकी के जूस के नुकसान क्या है

लौकी के जूस में अन्य किसी प्रकार की सब्जी को ना मिलाये।
कड़वा लौकी के जूस का सेवन ना करने इससे बचने के लिए आप lauki ka juice बनाने के बाद उसे एक चम्मच चक कर देख सकते है।
खली पेट लौकी का जूस का सेवन करने से गैस और जी मिचलाने जैसी समस्या हो सकती है लेकिन जरूरी नहीं की यह हर किसी को हो।
गर्भवती महिलाओ को लौकी का जूस पीते समय खास सावधानियां रखनी चाहिए, गर्भवती महिलाएं कड़वे लौकी के जूस का सेवन कभी ना करेन क्योकि इससे गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है।
जिन लोगों को जुकाम या नजले की समस्या हो वे लौकी का रस सर्दियों में ना पियें, पीना ही चाहें तो सोंठ और कालीमिर्च डालकर पियें।
शुरुआत में लौकी का जूस पीने से कब्ज और पेट खराब जैसे समस्या हो सकती है क्योकि लौकी का जूस पेट से बिकारों को बाहर निकलता है अगर आपके साथ इस प्रकार के कोई लक्षण हो तो घबराएँ नहीं कुछ समय के बाद यह लक्षण अपने आप ठीक हो जायेगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here