झुंझनू: राजस्थान के झुंझनू में जिस बुजुर्ग को मरा समझ पूरा गांव अंतिम दर्शन के लिए आ रहा था और परिजन अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे थे, वो अचानक उठ खड़ा हुआ। ये घटना झुंझनू जिले के खेतड़ी क्षेत्र के वबाई गांव की है। चार घंटे बाद फिर से बुजुर्ग के सांस लौट आने को लेकर गांव की आसपास के क्षेत्रों में भी चर्चा है। वहीं परिवार के लोग खुश हैं कि पिता फिर से लौट आए। जानकारी के मुताबिक, करीब 95 साल के बुद्धराम गुर्जर की शनिवार दोपहर मौत होने की बात गांव में फैल गई। गांव के लोग आए तो उन्हें भी बुद्धराम का शरीर मृत ही लगा। रिश्तेदारों को खबर दी गई तो रिश्तेदार भी अंतिम दर्शन के लिए पहुंच गए। गांव के लोगों ने शव को ले जाने के लिए अर्थी तैयार कर दी और बेटों ने मुंडन भी करा लिया।

जब शव को लेकर श्मसान की तरफ चलने ही वाले थे तो वो हुआ, जिसका शायद किसी को अंदाजा तक नहीं था।बुद्धराम के शरीर में सिरहन सी हुई, इसे देख परिजनों ने उन्हें झंझोड़ा को उनकी सांस चलने लगी। मुंह में पानी डाला गया तो कुछ ही देर में बैठ गए। यहां तक कि बात करने लगे और इतने सारे लोगों के जमा होने की वजह पूछने लगे। गांव के लोग और रिश्तेदार जो बुद्धराम के अंतिम दर्शन के लिए जमा थे, उन्हें भी समझ नहीं आया कि ये क्या हुआ है। बुद्धराम के प्राण लौटने पर भले ही आसपास में कुछ भी चर्चाएं हो लेकिन उनका परिवार काफी खुश है। सारा परिवार बुद्धराम के साथ ही बैठा है। परिवार के लोगों का कहना है कि त्योहार के दौरान इस तरह से घर के बुजुर्ग का लौट आना उनके लिए कुदरत के किसी तोहफे से कम नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here