हाल ही में हुए एक सर्वे के मुताबिक, दिल्ली में पेट के मोटापे के शिकार 66 प्रतिशत पुरुषों की तुलना में 71 प्रतिशत महिलाओं को हृदय रोग का खतरा है यानी पुरुषों की तुलना में महिलाओं को हार्ट डिजीज का रिस्क अधिक है। सर्वे के मुताबिक, दिल्लीवाले जो पेट के मोटापे के कारण हृदय रोग के खतरे में हैं उनकी खाने की आदतें भी एक जैसी हैं जैसे बाहर का खाना-84 प्रतिशत और सप्ताह में एक दिन जंक फूड खाना-77 प्रतिशत। एक औसत भारतीय को जहां दिल का रोग होने का खतरा 67 प्रतिशत हैं वहीं दिल्लीवालों को पेट के मोटापे से होने वाले हृदय रोग का खतरा 2 प्रतिशत अधिक यानी 69 प्रतिशत है। यह सर्वे देश के प्रमुख शहरों दिल्ली, मुंबई, लखनऊ और हैदराबाद के 837 लोगों पर किया गया।

इस सर्वे से कुछ चौंकाने वाले तथ्य सामने आए जो कि उम्र, लिंग, जीवनशैली से जुड़े थे और पेट के मोटापे के चलते हृदय के लिए खतरा पैदा करते हैं। सिर्फ काम का बोझ (71 प्रतिशत) ही लोगों के हृदय स्वास्थ्य को प्रभावित नहीं कर रहा बल्कि घरेलू तनाव (74 प्रतिशत) भी बढ़ते हृदय रोगों का कारण है। सर्वे के मुताबिक, 69 प्रतिशत दिल्ली वाली चाहे वो पुरुष हों या महिला, पेट के मोटापे के चलते हृदय रोग के खतरे के घेरे में है। इसलिए अब इस बात को लेकर जागरूक होने की आवश्यकता है कि अगर आपके पेट के आसपास चर्बी जमा है तो आपको हृदय रोग का खतरा है। एक और खास एवं ध्यान देने लायक विशेष तथ्य सामने आया है कि अगर आपका बीएमआई सामान्य है लेकिन आपकी तोंद निकली हुई है तो भी आपके हृदय को खतरा है। इसलिए अपने हृदय का खास ख्याल रखने के लिए आपको सक्रिय कदम उठाने होंगे।’ दिल्ली में 45 वर्ष से कम उम्र के वे लोग, जिनका वजन भले ही अधिक न है लेकिन पेट पर चर्बी जमा है, वैसे 10 में 7 व्यक्ति को हृदय रोग का खतरा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here