ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें अंग्रेजी बोलनी नहीं आती है. वह जब भी इंग्लिश बोलते हैं तो टेलीप्रॉम्पटर की ओर देख कर करते हैं.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पिछले चार साल से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बयानबाजी करती आई हैं. अब लोकसभा चुनाव नजदीक है तो ममता के द्वारा पीएम मोदी पर हमला करना जारी है. गुरुवार को ममता बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहुत तरह के भाषण देते हैं, लेकिन ढंग से एक लाइन इंग्लिश नहीं बोल पाते हैं. उन्हें इसके लिए टेलीप्रॉम्पटर की मदद लेनी पड़ती है.

एक बंगाली वेबसाइट के अनुसार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ‘’प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफी भाषण देते हैं लेकिन वह एक लाइन अंग्रेजी भी ठीक से नहीं बोल पाते हैं. जब वह अंग्रेजी बोलते हैं तो लगातार टेलीप्रॉम्पटर में देखते रहते हैं.’’

ममता बनर्जी बोलीं, ‘’ पूरा मीडिया इस बात को जानता है, बाकी लोग भी जानते हैं. वह स्क्रीन पर देखते हैं जो इंग्लिश में बोलना होता है पढ़ देते हैं, फिर ऐसा बोलते हैं कि जैसे वह इस भाषा में फ्लूएंट हैं. लेकिन हमें ऐसा नहीं करना पड़ता है’’

गौरतलब है कि ममता बनर्जी मोदी सरकार की मुखर विरोधी रही हैं. गुरुवार को ही उन्होंने ऐलान किया है कि पश्चिम बंगाल केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना का हिस्सा नहीं होगा. ममता का आरोप है कि इस योजना के तहत केंद्र सरकार राजनीति कर रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल के हर घर में चिट्ठी भेज रहे हैं जिसमें उनकी तस्वीर है और कमल का निशान है.

उन्होंने कहा कि आप (नरेंद्र मोदी) फोटो और पार्टी के निशान का चिट्ठी भेज रहे हो, तो स्कीम का सारा भार भी केंद्र सरकार को उठाना चाहिए. राज्य सरकार 40 फीसदी रकम क्यों भरे. गौरतलब है कि केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत स्कीम के तहत करीब 10 करोड़ परिवार को सीधे तौर पर लाभ मिलेगा. इसका खर्चा 60 फीसदी केंद्र सरकार और 40 फीसदी राज्य सरकार को उठाना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here