यह धाकड़ कार लांच होते ही तोड़ देगी इन सभी हाई क्लास कारों का रिकॉर्ड ………अपनी कारों में मारुति धीरे-धीरे डीजल इंजनों को अलविदा कह रही है और उनकी जगह नए पावरफुल पेट्रोल इंजन लॉन्च कर रही है. मारुति पहले ही एलान कर चुकी है कि वह अगले साल एक अप्रैल 2020 से लागू होने वाले नए बीएस6 मानकों चलते अपने कारों में डीजल इंजनों को अपग्रेड नहीं करेगी. जिसके बाद ग्राहकों को मारुति की बड़ी हैचबैक, सेडान और एसयूवी में 1.3 लीटर फिएट का मल्टीजेट डीजल इंजन नहीं मिलेगा, जिसके टॉर्क के लोग दीवाने थे.मारुति 1.3 लीटर फिएट के मल्टीजेट डीजल इंजन की जगह टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन लॉन्च करने की तैयारी कर रही है. फिलहाल मारुति की बलेनो में ही टर्बो पेट्रोल इंजन मिलता है. 1.0 लीटर 3 सिलेंडर वाला बूस्टरजेट पेट्रोल इंजन 101 बीएचपी की पावर और 150 एनएम का टॉर्क देता है. यह इंजन 5 स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स के साथ आता है और केवल बलेनो के आरएस वेरियंट में ही मिलता है. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से

टर्बोचार्जिंग और डायरेक्ट इंजेक्शन टेक्नोलॉजी वाला यह इंजन न केवल टॉर्क बढ़ाता है, साथ ही माइलेज को भी बढ़ाता है. वहीं मारुति अगले साल अप्रैल से मारुति स्विफ्ट, इग्निस, बलेनो (सभी मॉडल्स) और डिजायर में यह इंजन लॉन्च करेगी. ये भी खबरें है कि मारुति अपनी सब 4 मीटर विटारा ब्रेजा में 1.0 लीटर का पेट्रोल बूस्टरजेट इंजन लेकर आएगी. हालांकि मारुति ने अभी तक इसका आधिकारिक तौर पर एलान नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि जिन ग्राहकों को जबरदस्त टॉर्क वाली कार चाहिये, उन्हें टर्बो पेट्रोल इंजन पसंद आएगा. क्योंकि यही इंजन ही 1.3 लीटर फिएट के डीजल इंजन की कमी पूरी कर सकता है. मारुति फिलहाल बिना टर्बोचार्जर और डायरेक्ट इंजेक्शन वाला बीएस6 रेडी 1.0 लीटर के-सीरीज और 1.2 लीटर के-सीरीज पेट्रोल इंजन बना रही है.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मारुति के अलावा दूसरी कार कंपनियां टर्बो चार्ज्ड पेट्रोल इंजन पर फोकस कर रही हैं. ये इंजन इन दिनों कई सेगमेंट की कारों में काफी लोकप्रिय हो रहे हैं. ह्यूंदै ने अपनी सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी वेन्यू में ये वाला इंजन दिया है. इसके अलावा टाटा की जेटीपी टिगोर, फोर्ड इकोस्पोर्ट एस, महिंद्रा XUV300 के अलावा कई कारों में ये इंजन मिलता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here