अमित शाह ने अपने शुरुआती संबोधन में बीजेपी कार्यकर्ताओं से लोकसभा चुनाव 2019 के लिए युद्ध की तरह जुट जाने को कहा. अमित शहा ने कहा कि आने वाला चुनाव युद्ध की तरह है, और इसमें जीत के लिए कार्यकर्ताओं को जी जान से लग जाना होगा.

दिल्ली के रामलीला मैदान में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का राष्ट्रीय शुरू हो गया है. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने शुरुआती संबोधन में बीजेपी कार्यकर्ताओं से लोकसभा चुनाव 2019 के लिए युद्ध की तरह जुट जाने को कहा. अमित शाह ने कहा कि आने वाला चुनाव युद्ध की तरह है, और इसमें जीत के लिए कार्यकर्ताओं को जी जान से लग जाना होगा. अमित शाह ने कहा, “2019 का चुनाव वैचारिक युद्ध का चुनाव है, दो विचारधाराएं आमने सामने खड़ी है, 2019 का युद्ध सदियों तक असर छोड़ने वाला है और इसीलिए मैं मानता हूं कि इसे जीतना बहुत महत्वपूर्ण है.”

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि महागठबंधन ढकोसला है. उन्होंने कहा कि कल तक जो लोग एक-दूसरे का मुंह तक नहीं देखते थे, वे आज चुनाव के नाम पर एकसाथ आ गए हैं. अमित शाह ने इस दौरान सरकार के कई कामों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने गरीबों और युवाओंं के लिए काम किया है, जिसके लिए उनका सम्मान किया जाना चाहिए.

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि आज जीएटसी काउंसिल में हर बार किसी न किसी वस्तु के दाम कम किए जाते हैं. उन्होंने जीएसटी को मददगार बताया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फैसला करके फर्जी कंपनियों पर भी कार्रवाई की गई. इसके साथ ही उन्होंने सवर्ण आरक्षण का भी जिक्र किया और कहा कि 10 फीसदी आरक्षण देने का ऐतिहासिक काम मोदी सरकार में ही हुआ. उन्होंने कहा कि उरी में जवानों के साथ हुई बर्बरता के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक का फैसला किया. इससे दुनिया का भारत को देखने का अंदाज बदल गया.

पार्टी अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं को कहा कि मोदी सरकार में भ्रष्टाचार में नकेल लगाने का काम किया गया. इसके लिए बेनामी संपत्ति कानून लगाया गया. काला धन देश में वापस लाया गया. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार बेदाग सरकार है, इसके कामों ने कार्यकर्ताओं और देशवासियों का सिर ऊंचा किया है. उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री मोदी पर या उनकी सरकार पर एक भी दाग नहीं लगा है.

अमित शाह ने कहा कि राफेल डील के मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर कोरे आरोप लगाए, जो खुद और उनकी मां सोनिया गांधी टैक्स के मामले में जमानत पर चल रहे हैं. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया कि इस मामले में जांच की जरूरत नहीं है. इसके बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने ढाई घंटे तक विपक्ष के सारे सवालों को तार-तार कर दिया.

उन्होंने आगे कहा कि नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या हमारे ही शासनकाल में क्यों भागे, कांग्रेस से पूछिए कि उनके शासनकाल में क्यों नहीं भागे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here