अलसी कई रोगों में लाभकारी है. इसके बीजों से बना काढ़ा नियमित पीने से कई बीमारियों के उपचार में फायदेमंद है. दो चम्मच अलसी के बीजों को दो कप पानी में मिक्स करें व आधा रह जाने तक उबालें. तैयार काढ़ा छान लें व थोड़ा ठंडा होने पर इसे पीएं.

हार्ट ब्लॉकेज को करे दूर: नियमित रूप से तीन महीने तक अलसी का काढ़ा पीने से दिल की धमनियों में रुकावट दूर होती है. अलसी में उपस्थित ओमेगा-3 शरीर में बुरे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर दिल संबंधी रोगों से बचाव करने में मददगार है. यह शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालकर शुद्धिकरण करता है.

नियंत्रित ब्लड शुगर : मधुमेह में अलसी का काढ़ा लाभदायक है. नियमित रूप से प्रातः काल खाली पेट यह काढ़ा पीने से ब्लड शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है.
थायरॉइड में असरदार : प्रातः काल खाली पेट एक कप काढ़ा हाइपो और हाइपरथायरॉइड दोनों में फायदा देता है.
जोड़ों के दर्द में आराम : साइटिका, नसों व धमनियों का दबना, जोड़दर्द में काढ़े को नियमित पीएं.
गांठ करे दूर : सुबह-शाम दो बार काढ़ा पीने से शरीर में होने वाली किसी भी प्रकार की गांठ पिघल जाती है.

वजन घटाए : काढ़ा शरीर में जमे अलावा वसा को निकालकर वजन कम करती है. अलसी में उपस्थित फाइबर भूख कम करता है.
पेट की समस्याएं : नियमित यह काढ़ा पीने से कब्ज, पेटदर्द, अफारा से राहत मिलती है.

घने और लंबे बाल : आधा चम्मच अलसी के बीज रोज प्रातः काल गुनगुने पानी के साथ लेने से बालों के झडऩे की समस्या दूर होती है. 3-4 माह तक काढ़ा पीने से बाल सफेद नहीं होते.ऑयल की मालिश से भी बाल मजबूत होते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here