शिवरात्रि भगवान शिव की आराधना में मनाया जाता है| इस दिन भगवान शिव की उनके भक्त धूम धाम से पूजा करते हैं, शिवरात्री को शिव और शक्ति के मिल्न की रात माना जाता है, भगवान शिव के भक्त इस दिन व्रत रखते हैं और पूजा करते हैं, इस साल शिवरात्री 21 फरवरी को मनायी जाएगी और अगर हिन्दू कैलंडर के अनुसार देखा जाए तो शिवरात्रि को फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाते हैं|

भगवान शिव को शिव-शम्भु, शंकर, इत्यादि नामों से जाना जाता है| इस दिन मंदिरों में भक्त धतुरा और दूध से शिवलिंग की पूजा-अर्चना करते हैं और कुछ भक्त भांग से भी शिवलिंग को सींचते हैं, काफी अरसे से माना जाता है की भांग भगवान शंकर का ही प्रशाद है, इसी के चलते काफी बड़ी मात्रा में इस दिन लोग भांग का सेवन करते हैं और मंदिरों में भी ठंडाई प्रशाद के तौर पर दी जाती है

शिवरात्री के पीछे की पुरानीं कहानियाँ आप महाशिवरात्री कब है नामक लेख से जान सकते है

comment box में जरुर बताएं की आप के शहर में कौनसी कहानी प्रचलित है

 

Naukari Mart पर ये खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो इसे लाइक करके अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें | ऐसी ही मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरुर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here